खुद की मदद

खुद को हमेशा प्रोत्साहित रखने के 6 जबरदस्त उपाय

हर किसी के जिंदगी में कोई न कोई ऐसा छन जरूर आता है जब वह हताश और निराश हो जाता है। इसके पीछे कई कारण हो सकते है। लेकिन सवाल यह नहीं है कि कारण क्या है। सवाल यह है कि हम इससे कैसे बच सकते है। और हम खुद को हमेशा प्रोत्साहित कैसे कर सकते है।

आखिर क्या कारण है की कुछ लोग हमेशा अच्छे मुड़ में होते है। और कुछ लोग छोटी-छोटी बातों को लेकर उदास हो जाते है। आज के इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि कैसे आप हमेशा खुद को प्रोत्साहित रख सकते है।

खुद को प्रोत्साहित करना क्या है

खुद को प्रोत्साहित करना यानी की अपने आप को हमेशा अच्छा महसूस कराना, और अपने अंदर अपने लक्ष्य को पाने के लिये जबरदस्त जोश का होना। इसमें जब भी आपके मन मे अपने लक्ष्य या किसी बात को लेकर आशंका उतपन्न होती है। तब आप अपने आप को दिलासा देते है कि आप अपने लक्ष्य को पा सकते है। आप अपने मन को समझाते है कि आप लक्ष्य को पा सकते है।

खुद को प्रोत्साहित करने की जरूरत क्यों पड़ती है

इसकी जरूरत हमें इसलिये पड़ती है क्योंकि हमें किसी कारण से लगने लगता है कि हम अपने लक्ष्य तक नहीं पहुंच सकते है इसके कारण हमें निराशा घेर लेती है। कारण कई हो सकते है जैसे की पारिवारिक उलझन, मन के द्वारा उतपन्न कोई समस्या, लक्ष्य को पाने के लिऐ जरूरी संसाधन का न होना, किसी दूसरे लोगों के द्वारा आपके मन को निर्बल करना इत्यादि।

हमारा मन बहुत तेज़ी से सोचता है। यह हमें हमारे लक्ष्य से भटका सकता है। इसलिये हमें लगातार प्रोत्साहना की जरूरत होती है। कई बार यह नेगेटिव विचार मन में पैदा कर देता है जिसकी वजह से भी हम हताश और निरास हो जाते है।और हमे खुद को प्रोत्साहित करने की जरूरत पड़ती है।

खुद को प्रोत्साहित करने के उपाय

अब हम आपको यहां खुद को प्रोत्साहित करने के लिए कुछ उपायों के बारे में बताएंगे जिनकी मदद से आप खुद को हमेशा प्रोत्साहित कर सकते हैं। तप चलिये जानते है उन उपयो के बारे में।

  1. आपको यह जानना होगा कि अगर आप खुद को प्रोत्साहित नहीं कर सकते तो दुनिया में कोई भी आप को प्रोत्साहित नहीं कर सकता है। आपका मन जब भी हताश और निराश होने लगे तब आप यह सोचे कि आपने उस लक्ष्य को चुना क्यों था। आखिर क्या था जो आपको उस लक्ष्य के प्रति खींच रहा था। इससे हो सकता है आपका खून फिर से उबाल मारने लगे अपने लक्ष्य को पाने के लिये।
  2. कोई भी समस्या स्थायी नही होती है। आप इस बात को हमेशा याद रखें कि कोई भी समस्या स्थायी नही होती है। कोई खुशी या कोई गम स्थायी नही हो सकती है। सब समय के ऊपर है। इसलिये अगर आपके पास कोई कठिन समस्या आ जाती है जिसके कारण आपको लगने लगता है कि आप अपने लक्ष्य को नहीं पा सकते है। तो आप अपने आप को याद दिलायें की समस्या तो चला ही जायेगा लेकिन अगर हम समस्याओं की वजह से रुक जायें और अपने लक्ष्य को छोड़ दे तो इसका दुःख हमेशा हमपर बना रहेगा। इसलिये समस्याओं से डरे नहीं और अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिये जो भी जरूरी कार्य है उसे पूरा करने की कोशिश करते रहें।
  3. दूसरों की बातों पर ज्यादा ध्यान ना दें। बहुत सारे ऐसे लोग भी होते है जो कि आपको कुछ बोलकर या फिर कुछ कहकर निराश कर सकते है। इसलिये आप ऐसे लोगों के साथ नहीं रहे। और इनकी बातों पर कभी ध्यान ना दें। आप अच्छे मित्र बनाने की कोशिश करें। जो कि आपको आपके लक्ष्य तक पहुंचने में मदद करे। एक सच्चा साथी 100 झूठे और फरेबों से अच्छा है।
  4. आप प्रोत्साहित करने वाले वीडियोस और फिल्में देखें। जब आपका मन उदास हो जाता है। या फिर आप अपने लक्ष्य के प्रति उदासीन महसूस करने लगते है तो आप प्रोत्साहित करनी वाली विडीयो इस फ़िल्म देख सकते है। आप मोटिवेशनल गानों या फिर मोटिवेशनल स्पीकर्स को भी सुन सकते है।
  5. नेगेटिव न सोचें। आप अपने लक्ष्य को लेकर कभी भी नेगेटिव न सोचें। इससे आपका मन भर्मित हो सकता है। जब भी आपके अंदर नेगेटिव विचार आने लगे तो आप अपने आप को किसी कार्य में व्यस्त कर लें।
  6. आप अपनी दिनचर्या को अच्छा बनाय। अगर आप हमेशा जोश से भरा हुआ महसूस करना चाहते हैं तो इसके लिए या जरूरी है कि आप अपनी दिनचर्या को अच्छा करें। आप अच्छी नींद लें। रोज़ जल्दी जगे। जगने के बाद थोड़ी देर ध्यान जरूर करें। उसके बाद आप कसरत और योगा इत्यादि कर सकते है। इससे आप हमेशा अच्छा महसूस करेंगे।

तो दोस्तों ये थे कुछ तरीके जिनकी मदद से आप खुद को हमेशा प्रोत्साहित रख सकते है। अपने साथ आप दुसरो को भी प्रोत्साहित करते रहे। अपने दोस्तों को उनके लक्ष्य के प्रति प्रोत्साहित करें। अपने तन और मन को मजबूत बनाये जिससे ये किसी भी परिस्थिति से लड़ सके।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button