खुद की मददविद्यार्थी जीवन

अपने जीवन के लक्ष्य को कैसे प्राप्त करें

इस दुनिया में जितने भी लोग हैं सब के कोई ना कोई लक्ष्य जरूर होता है। आपका भी कोई न कोई जरूर लक्ष्य होगा। संसार में करीब 7 अरब से भी ज्यादा लोग हैं। लेकिन उनमें से अधिकांश लोग अपने लक्ष्य तक कभी भी नहीं पहुंच पाते।बस कुछ गिने-चुने लोग ही अपने लक्ष्य के पास पहुंच पाते हैं। लक्ष्य एक पहाड़ की तरह है और हम सभी इंसानों का मकसद पहाड़ के सबसे ऊंची चोटी तक पहुंचना है। मेहनत सभी करते हैं लेकिन वहां तक पहुंच केवल कुछ ही लोग पाते हैं।

कुछ लोग अपने लक्ष्य को पाने के लिए कभी मेहनत ही नहीं करते वह पहाड़ के नीचे ही रह जाते हैं। कुछ लोग थोड़ी दूर चढ़ाई करने के बाद थक हार जाते हैं। कुछ लोग अपने लक्ष्य के बहुत करीब पहुंचकर हार मान जाते हैं। लेकिन ऐसा क्यों होता है कि हम अपने लक्ष्य तक नहीं पहुंच पाते है? आज किस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि कैसे आप अपने लक्ष्य तक पहुंच सकते हैं और खुशी-खुशी अपना जीवन जी सकते हैं। कैसे आप बाहर के शिखर तक पहुंच सकते हैं। और अपने मां बाप को अपने परिवार को गौरवान्वित कर सकते हैं।

पहले आप अपना जीवन के लक्ष्य को तय करें

पहले आप तय कर करें कि आप जीवन में क्या पाना चाहते हैं। ऐसे बहुत सारे लोग हैं जिनके पास जीवन का कोई लक्ष्य ही नहीं होता है। ऐसा जीना और जानवर के जीने में ज्यादा अंतर नहीं है। हम मनुष्य है हमारे कुछ लक्ष्य होते हैं जिनको पाने के लिए हम जीवन भर कार्य करते हैं। इसलिए पहले आप यह निश्चय करें कि आपके जीवन का लक्ष्य क्या है। आप क्या पाना चाहते हैं इस जीवन से आप ऐसा क्या हासिल करना चाहते हैं यह पहले आप सोच ले।

अगर आप दुविधा में हैं कि आप क्या पाना चाहते हैं आपका जीवन का क्या लक्ष्य है आपको नहीं पता है तो फिर आप खुद से यह सवाल करें। इसके लिए आप कुछ दिन तक अकेले रहना चालू कर दे।अकेले रहना मतलब आप अपने आप को रोज कुछ घंटे अकेले में समय दें। अकेले में घूमें, खुद से बात करें और अपने आप से पूछे कि आप जीवन से क्या पाना चाहते हैं। आपको कुछ दिन बाद स्वयं इसका जवाब मिल जाएगा।

अपना लक्ष्य तय करते समय एक बात का अवश्य ही ध्यान रखें वह यह कि आप किसी दूसरे व्यक्ति के लक्ष्य को अपना लक्ष्य ना बनाएं। बहुत से लोग होते हैं कि वे दूसरों व्यक्ति को देखकर अपना लक्ष्य बना लेते हैं वह उसी की तरह जीना चाहते हैं लेकिन ऐसा करने से आपकी स्वयं की हानि होगी। क्योंकि वह आपका लक्ष्य नहीं है इसलिये आप खुश नहीं रहेंगे। वह लक्ष्य तो किसी दूसरे व्यक्ति का लक्ष्य है आपका नहीं।

अपने लक्ष्य को पाने के लिए “तैयारी” का महत्व

अब जब आपने यह तय कर लिया है कि आपके जीवन का क्या लक्ष्य है तो फिर आपको उसे पाने के लिए मेहनत करनी पड़ेगी। लेकिन यह जरूरी है कि आप मेहनत सही दिशा में करें सही तैयारी के साथ करें। नहीं तो आप कितना भी मेहनत कर ले अपने लक्ष्य के दूर ही रहे रहेंगे। मान लीजिए एक मजदूर का लक्ष्य अमीर बनना है। वह बिना किसी तैयारी के बस मजदूरी करता रहेगा तो जीवन भर गरीब ही रहेगा। वह कभी भी अमीर नहीं बन सकता है। इसलिए अपने लक्ष्य को पाने के लिए तैयारी करना बहुत जरूरी है।

इसलिए अपने जीवन का लक्ष्य बनाने के बाद आपको उसे पाने के लिए तैयारी करना बहुत ही आवश्यक है। तैयारी करने से आपको यह पता भी रहेगा कि आप सही दिशा में कार्य कर रहे हैं या नहीं।

अपने जीवन के लक्ष्य को कैसे पाएं

  • आप अपने लक्ष्य को ही जीवन बना ले। आओ अपने लक्ष्य को पाने का विचार करें। आप खाते समय, नहाते समय , सोते समय किसी कार्य को करते समय अपने लक्ष्य के बारे में ही आप सोचे। आप यह सोचे कि आप अपने लक्ष्य के करीब पहुंच गए हैं । विचार में अपने लक्ष्य को हमेशा स्थान देते रहें।
  • तैयारी के अनुसार चलें। आपने अपने लक्ष्य को पाने के लिए जो तैयारी की है आप उसी के अनुसार चले। कई बार आपको हताश और निराश होना पड़ सकता है। लेकिन आप अपने लक्ष्य को ना भूलें और उसको पाने के लिए हमेशा कार्य करते रहें। जरूरत पड़ने पर आप अपनी तैयारी में थोड़े बहुत बदलाव भी कर सकते हैं। लेकिन आप अपना लक्ष्य को कभी भी भूलने की कोशिश ना करें।
  • मेहनत करने से घबराए नहीं। अगर आप अपने लक्ष्य तक पहुंचना चाहते हैं तो मेहनत करने से बिल्कुल भी ना डरे। बहुत से लोग यह सोच कर मेहनत नहीं करते कि क्या पता हम अपने लक्ष्य तक पहुंचेंगे भी कि नहीं। और नहीं पहुंच सके तो सारा मेहनत व्यर्थ जाएगा। अगर जब भी आपके मन में ऐसे विचार आया तो आप भगवान श्री कृष्ण का एक कथन को हमेशा स्मरण करें कि दुनिया में जितने भी मनुष्य हैं उनके हाथ में सिर्फ कर्म करना होता है। फल उनके हाथ में नहीं है। इसलिए आप बस अपने लक्ष्य को पाने के लिए मेहनत करते रहे। फल आप भगवान के हाथ में छोड़ दें।
  • आत्म निरीक्षण करें। समय-समय पर आप खुद का निरीक्षण करना ना भूले। आप देखे कि अपने लक्ष्य को पाने के सही दिशा में जा रहे हैं या नहीं। अगर आपको कुछ गलत लगे तो आप अपने आप में सुधार जरूर करें।

यह थे कुछ तरीके जिनसे आपको अपने लक्ष्य को पाने में मदद मिलेगी हम ईश्वर से प्रार्थना करते हैं कि आपको आपका लक्ष्य जरूर मिले।